Currently Browsing: Latest News

Legend Singer Asha Bhosle Sings Song For Rakhi Sawant Film Kashmir Dhara 370

Legend Singer Asha Bhosle Sings Song For Rakhi Sawant Film Kashmir Dhara 370
आशा भोसले ने राखी सावंत के लिए गाया आइटम नंबर मशहूर गायिका आशा भोसले ने आइटम गर्ल राखी सावंत के लिए एक आइटम नंबर गाया, आशाजी राखी को इस गाने की सफलता के लिए आशीर्वाद भी दिया। अपनी खनकदार आवाज़ के लिए मशहूर गायिका आशा भोसले ने आज शाम मुंबई में एक आइटम नंबर रिकॉर्ड किया। इस गाने की खासियत है कि इसे सुनकर आपको फिल्म कुर्बानी का सुपरहिट सॉन्ग ‘लैला मैं लैला’ की याद जरूर आएगी। थोड़ी अरबी, थोड़ी उर्दू-फारसी और बाकी हिन्दुस्तानी भाषा का प्रयोग कर लिखे गए इस गाने की कहानी है कि यह गाना पाकिस्तान में नौटंकी में नाचने वाली लड़की के लिए है, जो अपनी कातिल अदाओं और खूबसूरत हुस्न के के जलवे से कश्मीरी जवानों को जिहाद के रास्ते पर भेजती है।     इस पाकिस्तानी लड़की का किरदार राखी सावंत निभा रही हैं और इसी गाने को आशा भोसले ने अपनी खनकदार आवाज से सजाया है। हाल ही में राखी सांवत ने सोशल मीडिया पर अपनी एक तस्वीर शेयर की थी, जिसमें वह पाकिस्तान के झंडे को सीने से लगाए दिख रही हैं। राखी की यह तस्वीर फिल्म ‘कश्मीर धारा 370‘ की शूटिंग के दौरान की थी। यह गाना उसी फिल्म के लिए रिकॉर्ड किया गया है। आशा ताई ने यह गाना करीब एक घंटे में रिकॉर्ड कर लिया। वह स्टूडियो में पहुंची और सबसे पहले पूरा गाना खुद अपनी राइटिंग में लिखा और याद किया और थोड़े ही समय में उन्होंने गाने की रिकॉर्डिंग पूरी भी कर ली। आशा ताई ने गाना रिकॉर्ड होने के बाद राखी सावंत और फिल्म के निर्देशक राकेश सावंत के साथ फिल्म के विषय पर भी चर्चा की। राखी सहित फिल्म की पूरी टीम को फिल्म की सफलता के लिए आशीर्वाद दिया और राखी के साथ गाने के बोल पर ठुमके लगाने में भी पीछे नहीं रहीं। फिल्म ‘कश्मीर: धारा 370’ कश्मीर समस्या और कश्मीरी पंडितों पर आधारित है। निर्देशक राकेश सावंत बताते हैं, ‘हमारी फिल्म का नाम है कश्मीर: धारा 370, हमने पिछले दिनों ही फिल्म की शूटिंग देहरादून और कश्मीर में पूरी कर ली। देहरादून में हम 1947 के समय का कश्मीर दिखा रहे थे, जो बहुत मुश्किल था। लकड़ी के जो मकान होते थे, उस जमाने में, हमने वही सब देखकर फिल्म की शूटिंग की। फिल्म में हितेन तेजवानी अहम भूमिका में हैं। 2 नई लड़किया हैं, अंजली पांडे और तन्वी टंडन। मनोज जोशी मेरी फिल्म में कश्मीरी पंडित का रोल निभा रहे हैं, उनकी वाइफ का रोल कर रही हैं, जरीना वहाब जी और उनके बेटे के रोल में हितेन तेजवानी हैं।’ ‘फिल्म में एक मुस्लिम परिवार की भी अहम भूमिका है। पंकज धीर और अनीता राज पति-पत्नी के रूप में हैं, जो कश्मीर का एक मुस्लिम परिवार है, इनकी बेटी अंजली पांडे हैं। हकीकत तो यह है कि बहुत से लोग यह नहीं जानते कि धारा 370 है क्या? मैं दुनिया के सामने धारा 370 की सच्चाई लाने के लिए यह फिल्म बना रहा हूं। यह फिल्म बीजेपी की है। मैं यह फिल्म प्रधानमंत्री मोदी को गिफ्ट करूंगा, क्योंकि यह मुद्दा भी मोदीजी का ही है। हमने इस फिल्म को इसी साल अगस्त के पहले सप्ताह यानी 7 अगस्त को रिलीज़ करना तय किया है।’ Our Courtsey To Navbharat Times...
read more

The Lone Wolf Sheds Light on the Power of Radicalization Through Film

The Lone Wolf Sheds Light on the Power of Radicalization Through Film
BEVERLEY HILLS, California—A first-time filmmaker from India is creating a stir and causing a heated debated between radicalized and non-radicalized Muslims in the United States in the wake of the devastating Sri Lanka bombings. Balakrishna P. Subbiah’s “The Lone Wolf” delves deep into the complex mind of a radical Islamic Jihadist referred to as the titular Lone Wolf. The film has been picked up by Little House Studio Films based in Beverley Hills, California and will be distributed by Leomark. The opening scenes of “The Lone Wolf” pan out across a remote landscape at the India-Pakistan border near Punjab. A group of terrorists try to cross the heavily monitored border via a barbed fence and are shot down by the Border Security Force–all except for one, Abu Aatif (The Lone Wolf). Aatif digs his way through an underground canal the terrorists previously imploded and creates a hidden tunnel burrowed deep beneath the border. Days after successfully breeching the border, Aatif finds refuge in the house of a transgender woman who aids in his recovery by nursing him back to health and feeding him. Unknown to Aatif, his host is raising a venomous cobra that is on a mission to attack the city of Mumbai in Western India. Once Aatif recovers from him injuries, the highly educated and sombre young man moves to Syria at the behest of contacts he makes via the Dark Web, where his story takes a tragic turn into the shadowy world of radical Islamic terrorism. Aatif’s journey into this dark realm reinforces the persuasive and memorizing power of radicalization and how it can entice anybody at anytime and anywhere. Trained by ISIS, Aatif is tasked with bombing the city of Mumbai and eventually moves to Pakistan. After completing training in Pakistan, he meets members of the terrorist organization Lashkar-e-Taiba, who help him cross over into mainland India, and eventually find refuge in a secret camp in the Khorasan Province of Afghanistan. In Afghanistan, Aatif comes fully into his own as terrorist–intelligent, highly skilled and radicalized enough where his deranged mind is unable to see anything except the journey to heaven by killing himself–the edict of the Islamic State. Eventually, he connects with his handlers, and upon their directives, brutally murders the transgender woman who gave him shelter and quickly flees after the horrific act. However, unbeknownst to him, as flees the crime scene by walking through the streets, he is met with a twist of fate.   Kalashnikov, the transgendered woman who cares for Aatif is well-casted by Kalki Subramaniam, a real-life transgender activist and painter. She adds remarkable authenticity to the film, as does actor Sandeep Pednekar, who plays the chief of the Anti-Terrorism Squad of the state of Maharashtra. Deepak Sharma, who plays the role of The Lone Wolf terrorist Aatif, is a model based in Australia and is the face of Audi. Sharma effortlessly assumes his character with horrifying ease and silent brilliance. “Kalashnikov,” the working title of “The Lone Wolf,” is Deepak Sharma’s first film –a film which he also directs.  The movie has been shot lyrically by Shobith Sharma, who handles the camera for a feature film for the first time in his career. The film’s soundtrack is enhanced by an eerie humming that originates from traditional Indian vocalist Seema Uniyal of New Delhi, giving the film a  foreboding “Rosemary’s Baby” feel. “Kalashnikov,” the working title of the film, was changed to “The Lone Wolf” by its distributors–with good reason. It won the Best Director award at the Dadasaheb Film Festival held in New Delhi in mid-May, which is considered to be one of India’s most prestigious awards. “The Lone Wolf” is a...
read more

Shaan Sings Love Track For Movie KASHMIR DHARA 370 Music Director Rahul Bhatt

Shaan Sings Love Track For Movie KASHMIR DHARA 370 Music Director Rahul Bhatt
Shaan Sings Love Track For Movie KASHMIR DHARA 370 Music Director Rahul Bhatt and lyrics by Rahul Bhatt. Shooting of the film has just been completed in various lovely locales of KASHMIR,  DHERADOON,  JAKOL MORI PAROLA, KHARSHALI,  HIMACHAL,  HUMTA MANALI KOTHI.   It is a Subharti Films Media Pvt. Ltd & Jayas Films Presents,  Producer Bhanwar Singh Pundir, Ms. Avani Kamal and Rakesh Sawant Movie (KASHMIR DHARA 370) a love story between a Kashmiri Muslim Girl and a Kashmiri Hindu Pandit Boy. Produced by Ms. Avani Kamal, Managed & organized by Bhanwar Singh Pundir. The Film Stars  HITEN TEJWANI,  MANOJ JOSHI,   RAJ ZUTSHI,  ZAREENA WAHAB,  PANKAJ DHEER,  ANITA RAJ,  MOHAN KAPOOR,  SUJATA MEHTA,  ANJAN SRIVASTAV,  BHANWAR SINGH PUNDIR,  SHABAZ KHAN,  BRIJ GOPAL,  MASTER AAYAN AND RAKHI SAWANT.  INTRODUCING 3 NEW TALENTS ANJALI PANDEY,  TANVI TONDON AND AADITA JAIN. This most awaited movie is scheduled to release on...
read more

Ravi Kishan – Khesarilal Yadav Along With Many Film Stars Congratulated Sanjay Bhushan Patiala On His Engagement

Ravi Kishan – Khesarilal Yadav  Along With Many Film Stars Congratulated Sanjay Bhushan Patiala On His Engagement
रवि किशन – खेसारीलाल यादव समेत तमाम फिल्‍मी सितारों ने दी पीआरओ संजय भूषण पटियाला को सगाई की बधाई पटना में बौद्ध और हिंदू रीति के अनुसार हुई सगाई, अभिनेता कृष्‍ण कुमार रहे मौजूद नवंबर 2019 में होगी संजय भूषण पटियाला की शादी भोजपुरी फिल्‍म इंडस्‍ट्री के डायनेमिक पीआरओ संजय भूषण पटियाला की सगाई राजधानी पटना के एग्‍जीवीशन रोड स्थित होटल रिपब्लिक में एक भव्‍य समारोह के दौरान बिभा कुमारी के साथ संपन्‍न हो गई। इस मौके पर मेगा स्‍टार रवि किशन, सुपर स्‍टार खेसारीलाल यादव समेत भोजपुरी फिल्‍म इंडस्‍ट्री के तमाम कलाकार और निर्माता – निर्देशकों ने संजय को सगाई के लिए फोन कर ढ़ेर सारी बधाई व शुभकामनाएं दी। हालांकि, इन दिनों चुनाव का समय है। ऐसे में रवि किशन समेत कई भोजपुरिया कलाकार चुनाव में व्‍यस्‍तता की वजह से सगाई समारोह में शामिल नहीं हो सके, लेकिन सबों ने शादी में शामिल होने का वादा किया। संजय की शादी इसी साल नवंबर महीने में होगी। वहीं, अभिनेता कृष्‍ण कुमार  सगाई में शामिल होकर संजय को शुभकामनाएं दी।   आपको बता दें कि मंगलवार की शाम संजय भूषण पटियाला की सगाई पहले बौद्ध और उसके बाद हिंदू रीति से हुई। इस दौरान उनकी फैमली के साथ – साथ पीआरओ रंजन सिन्‍हा, सर्वेश कश्‍यप, डिस्‍ट्रीब्‍यूटर शशि सिंह, संजय लालटेन व अन्‍य पारिवारिक मित्रों ने भी उन्‍हें वैवाहिक जीवन की पहली सीढ़ी चढ़ने पर बधाई दी और उनके लिए मंगल कामनाएं की। इस दौरान डांस फ्लोर पर भी खूब धमाल देखने को मिला। सबों ने मिलकर संजय की सगाई को बेहद खास और यादगार बना दिया। आपको बता दें कि  इलाहाबाद से आने वाले संजय भूषण पटियाला भोजपुरी इंडस्‍ट्री के सबसे भरोसेमंद पीआरओ हैं। इन्‍होंने अब तक इंडस्‍ट्री लगभग 250 से भी अधिक फिल्‍मों के लिए पीआर का काम किया है और इन दिनों कई फिल्‍में इनके हाथ हैं। इसके अलावा संजय रवी किशन ,खेसारीलाल यादव, पवन सिंह, प्रदीप पांडेय चिंटू, अरविंद अकेला कल्‍लू, यश कुमार, राजकुमार आर पांडेय, रानी चटर्जी, काजल राघवानी, शुभी शर्मा, काजल यादव, प्रियंका पंडित, गुंजन पंत ,निशा दूबे ,अजय दिषित ,रवी य़ादव , विनोद  य़ादव , विजय गुप्ता ,मानमोहान मिश्रा , अमरिश सिंह , जैसे सेलिब्रिटी के पसर्नल पीआरओ भी...
read more

Karishma Kapoor At Special Screeing A Hungarian Film – Lend Me Your Eyes Baltazars

Karishma Kapoor At Special Screeing A Hungarian Film – Lend Me Your Eyes  Baltazars
Lend me your eyes, Baltazars- a Hungarian film with a message to the Indian public According to a recently published WHO study one in four people in the world are affected by mental or ncurological disorders at some point in their lives. Mental disorder is among leading causes of ill – health and disability worldwide ln India at least 13.7 % of the poulation  suffers from various mental disorders (National Mental Health Survey). the Nearly two-thirds of people with a known mental disorder never seek help from a h professional. Stigma, discrimination and neglect prevent care and treatment from reac people with mental disorders ealth Baltazar Theatre, founded in January 1998, is a professional theatre company in whose members are actors and actresses living with mental disability (down syndrom theatre tries to break new ground by putting actors’ disabilities in the background emphasizan their talent. They aim to create conditions for disabled people to express their talent an ensure that social judgement on mentally disabled people changes. Running a regular theatre company that puts on stage plays with actors born into mental disability appearing together w well know stage and cinema actors is a unique initiative.     Baltazar Theatre Company is. therefore, a unique cultural institution with a highly important social mission international comparison. Budapest e). The d to ith even in The Company has been living in the attraction of India right from its inception. They practice yoga, some of their performances are linked to Indian culture. Since the foundation of the company the actors had a dream of travelling to India. This travel came true in January 2015. The documentary entitled ,Lend me your eyes, Baltazars” records this journey to the Indian state of Tamil Nadu and to the temple of Vaiteeswaran Koil The film lets us see faith through the filter of art and monitor how the mentally challenged artists of the Hungarian theatre embrace the spirituality of India In January 2018 the film won the best director’s prize in documentary film category at the Jaipur International Film Festival. With the support of the Hungarian Ministry of Foreign Affairs and Trade the film has just been dubbed in Tamil and Hindi languages. Ms Karisma Kapoor while introducing the documentary emphasized, that the film carries a message and shows an example people in India should definitely be listening to as well: each one of us, every single one of our fellow citizens has been born to this world with a talent to develop. Discovering this talent and creating an opportunity to express it greatly contributes to the social acceptance of our fellow human beings with special needs. Phots By Kabir M Love मुझे अपनी आँखें उधार दें, बाल्टाज़र्स- एक हंगेरियन फिल्म, जो भारतीय जनता के लिए एक संदेश है। हाल ही में प्रकाशित डब्ल्यूएचओ के एक अध्ययन के अनुसार, दुनिया में हर चार में से एक व्यक्ति अपने जीवन में मानसिक या तंत्रिका संबंधी विकारों से प्रभावित है।  मानसिक विकार दुनिया भर में बीमार स्वास्थ्य और विकलांगता के प्रमुख कारणों में से है, भारत में कम से कम 13.7% पॉप विभिन्न मानसिक विकारों (राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य सर्वेक्षण) से ग्रस्त हैं।  एक ज्ञात मानसिक विकार वाले लगभग दो-तिहाई लोग कभी भी एच पेशेवर की मदद नहीं लेते हैं।  कलंक, भेदभाव और उपेक्षा मानसिक विकारों के साथ देखभाल और उपचार को रोकती है मानसिक विकार, बाल्टाजार थियेटर, जनवरी 1998 में स्थापित, एक पेशेवर थिएटर कंपनी है, जिसके सदस्य मानसिक विकलांगता के साथ रहने वाले अभिनेता और अभिनेत्री हैं (डाउन सिंड्रोम थिएटर थिएटर द्वारा नई जमीन तोड़ने की कोशिश करता है।  पृष्ठभूमि में अभिनेताओं की विकलांगताओं को उनकी प्रतिभा पर बल देता है। वे अपनी प्रतिभा को व्यक्त करने...
read more

« Previous Entries